कमरख गम रख



यह है स्टार फ्रूट। पंचफलकीय इस फल को स्लाइस में काटें तो हर टुकडा़ तारे की आकृति का होगा।

हरियाणा-पंजाब में यह आसानी से नहीं दिखता। बनारस में गणेश चतुर्थी को यह फल और सब्जियों की रेहडी़ पर खूब दिखा। पता चला यह गणेश जी को चढा़या जाता है।

रेहडी़वाले का कहना था कि यह मीठा है मगर कच्चे अंगूर सा खट्टा स्वाद और अॉग्जेलिक एसिड की हल्की गंध लिए है। रसीला। विटामिन सी, बी और मिनरल्स से भरपूर है।
मगर किडनी की समस्या से ग्रस्त तथा पथरी रोगियों के लिए यह नुकसानदायक है। उन्हें इसे न खाने की सलाह दी जाती है।
वैसे इसकी खुशबू से ही किडनी और पत्थरी के रोगी मितली महसूस करेंगे।

इसलिए हिंदी में इसे कमरख कहा जाता है। कम रख! गम रख!
कम खाओ देखकर खाओ।

Comments