चौकीदार और उसका कुत्ता

दो कौड़ी का
चौकीदार
लूटे देश
बड़ा मक्कार
ऐसे जीवन को
धिक्कार

चौकीदार और
उसका कुत्ता
खाएं पियें और
भौंकें उत्ता
माल मिले
जहां से जित्ता
हर अंबानी के दर
पर जाते
खूब पीठ वहां
सहलवाते

बेजमीर यह
जोड़ी है
इक अंधा
इक कोढी़ है
जब भी उडे़
विशेष विमान
ढो ले गये
सारा माल
खूब बजाते
दोनों गाल

इनका कालाधन
भी गोरा
यह बोला
दिल्ली में छोरा
स्विस बैंक में
इनकी माया
चीन पाक से
कमीशन खाया
बेचा देश और
खूब कमाया

चौकीदार है
देशद्रोही
कुत्ता उसका
भी नंदोई
चौकीदार के
पकड़ो गाल
देश में लाओ
देश का माल
भारत माता
कहे में आऊं
तब तक ऊंचा
लट्ठ उठाऊं
जब तक कुत्ता
करे न कांऊं

तभी बढे़गा
देश का मान
जय भारत
जय हिंदुस्तान

#सुधीर_राघव

Comments