लाल मिर्च

प्यार
जिंदगी में मिर्च की तरह है
जितना ज्यादा
उतना स्वाद
पर इसे झेलना
आसान नहीं
इसके बिना
जायका नहीं

यह काला सोना है
और लाल भी
पूरी दुनिया की नजर
रहती है इस पर
इसने रियासतों को
चलाया और मिटाया
इसके कई स्वाद
कई रंग हैं

यह असम की भूत जोलोकिया है
जिसे चखने के बाद
कोई पानी नहीं मांगता
कुछ के लिए
यह कश्मीरी लाल है
जो तीखा कम मगर रंग चोखा है
यह राजस्थानी भरवां है
कहीं देगी मिर्च का तड़का है

प्यार
जिंदगी में मिर्च की तरह है
यह दिल और दिमाग ही नहीं
सेहत पर भी असर करता है
इसके बिना
दिल से आवाज नहीं आती
यह आता है तो
दिल हो जाता है गुंटूर की मंडी
जहां तक नजर जाए
बस लाल ही लाल लाल मिर्च!!!!
#सुधीर_राघव

Comments