फिर गरजेगा सचिन का बल्ला

इस रविवार को फिर गरजेगा सचिन का बल्ला, सितारे तो कहते हैं खुशी अंत तक नहीं बनी रहेगी. अगर गुरु ने मंगल का साथ दिया, सूर्य भी तो उसी का देगा. शुक्र की वृष राशि का क्या होगा हाल, सहवाग का बल्ला फिर रहेगा उदास.
17 फरवरी की पोस्ट का ये आकलन देखें-
सबसे पहले हम मेष राशि को लेते हैं। इसमें अश्वनी, भरणी और कृतिका नक्षत्र का प्रथम चरण आता है। इस राशि में अस्ट्रेलिया और आयरलैंड की टीमें आती हैं। मेष राशि का स्वामी मंगल है। यह गोचर में फिल्हाल लाभ भाव में पंचमेश सूर्य के साथ बड़े लाभ के योग बना रहा है मगर यह स्थिति सिर्फ पंद्रह मार्च तक ही रहेगी। मंगल का खेल से सीधा रिश्ता है। इन तीनों ही टीमों का नाम कृतिका नक्षत्र का है। ऐसे में मंगल और सूर्य का योग ऐसा ही है जैसा राजा और सेनापती का।  अगर पंद्रह मार्च तक के मैचों में आयरलैंड  उल्टफेर करती हैं तो मान लेना कि ज्योतिष कुछ हद तक सही है। अगर ये दोनों टीमें आसानी से हारती हैं तो मेरी तरह शक करना।

Comments

टीम को शुभकामनायें .....
ZEAL said…
चलिए देखते हैं , क्या होता है ...
सचिन का बल्ला नहीं गरजा सर जी। पर सहवाग का बल्ला बंधा ही रहा। फिर भी सचिन टीम के टॉप स्कोरर्स में दूसरे नंबर पर रहे। मुझे नहीं लगता कि रविवार होने से सचिन की बल्लेबाजी पर फर्क पड़ता है।

http://www.dunali.blog.com
सुधीर said…
sachin ese hi garjata hai, thoda or garj jata to jit ke lale pad jate

Popular posts from this blog

चौकीदार का स्विस एकाउंट

जब जब धर्म को ग्लानि होती है, मैं उसका उत्थान करने स्वयं आता हूं : ईश्वर

कहत कत परदेसी की बात- प्रसंग पहेली का हल